110 Sad Shayari । सैड शायरी

चुपके-चुपके रात दिन, आंसू बहाना याद है। हमको अब तक आशिकी का, वो जमाना याद है। हम तो बिछड़े थे तुमको अपना, एहसास दिलाने के लिए। मगर तुमने तो मेरे […]